Breaking News
Home » मध्य प्रदेश » छतरपुर » जाति प्रमाण पत्रों की खराब स्थिति पर कमिश्नर हुए नाराज

जाति प्रमाण पत्रों की खराब स्थिति पर कमिश्नर हुए नाराज

जाति प्रमाण पत्रों की खराब स्थिति पर कमिश्नर हुए नाराज
जाति प्रमाण पत्रों की खराब स्थिति पर कमिश्नर हुए नाराज

जाति प्रमाण पत्र जारी करने के कार्य में प्रदेश में छतरपुर जिले का 50 वां स्थान है। सिर्फ भोपाल जिला ही छतरपुर से पीछे है। इस स्थिति पर सागर संभाग के कमिश्नर श्री राजकुमार माथुर ने आज जिले के संबंधित अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त की।

उन्होंने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गयी विकास कार्यों एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा बैठक में कहा कि जाति प्रमाण पत्र जारी करने के कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही न की जाये। उन्होंने जिले के समस्त एसडीएम, जिला शिक्षा अधिकारी, डीपीसी एवं जिला प्रबंधक लोक सेवा गारंटी को निर्देशित करते हुए कहा कि आगामी 31 जुलाई तक जाति प्रमाण पत्रों के कार्य में प्रदेश के अन्य जिलों की भांति संतोषजनक प्रगति लाई जाना सुनिश्चित की जाये।

बैठक में उन्होंने पड़ोसी जिला पन्ना का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां जाति प्रमाण पत्रों को लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से फीड कराने का अच्छा कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छतरपुर जिले में भी लोक सेवा केन्द्र संचालकों को निर्देशित किया जाये कि वे प्राप्त हुए जाति प्रमाण पत्रों के आवेदन कम्प्यूटर में तेजी से फीड कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने जिला प्रबंधक लोक सेवा गारंटी श्री पीएन गंगेले को निर्देशित किया कि यदि जिले के किसी लोक सेवा केन्द्र में जाति प्रमाण पत्रों को फीड करने में कठिनाई आ रही है तो उन्हें छतरपुर आकर जाति प्रमाण पत्रों को फीड कराने के लिये कहें। अन्यथा लोक सेवा केन्द्र संचालकों पर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी एवं डीपीसी को निर्देशित किया कि जिले से बाहर पलायन करने वाले बच्चों को स्कूलों में दर्ज नहीं किया जाये। उन्होंने कहा कि ऐसा होने पर संबंधित शिक्षक पर कार्यवाही की जायेगी। कमिश्नर श्री माथुर ने मतदाता परिचय पत्र से आधार कार्ड एवं मोबाईल नम्बर लिंक कराने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अभी तक जिले में 15 प्रतिशत मतदाताओं के आधार कार्ड ही मतदाता पहचार पत्र से लिंक हो पाये हैं। उन्होंने इसे गम्भीर स्थिति मानते हुए प्राथमिकता से कार्य करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि छतरपुर जिला मुख्यालय पर छूटे हुए व्यक्तियों के आधार कार्ड बनवाने के लिये 25 स्थानों पर मशीनें रखवा दी जायें। उन्होंने प्रधानमंत्री जीवन ज्योति एवं प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत लोगों के बीमा कराने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये।

कमिश्नर श्री माथुर ने महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा के दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्री भरत राजपूत से कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों को नाश्ता के समय पर नाश्ता एवं भोजन के समय पर भोजन देने का कार्य किया जाये। समीक्षा के दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री राजपूत ने बताया कि एक आंगनबाड़ी केन्द्र पर डेढ़ माह से नाश्ता एवं भोजन एक साथ दिया जा रहा था। इस पर कमिश्नर श्री माथुर ने संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने जिले में आंगनबाड़ी केन्द्रों की सतत मॉनीटरिंग के भी निर्देश दिये। उन्होंने जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के अंतर्गत संचालित मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना एवं मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना में लक्ष्य के मुताबित कम प्रगति होने पर तेजी से प्रगति बढ़ाने के लिये महाप्रबंधक उद्योग श्री आदित्य चौबे को निर्देश दिये।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना के अंतर्गत लंबित मामले शीघ्र स्वीकृत कराने के लिये सीएमएचओ डॉ. विनोद कुमार गुप्ता को निर्देश दिये। उन्होंने सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए ऊर्जा विभाग में सबसे अधिक आवेदन लंबित होने पर कार्यपालन यंत्री श्री एसएन मिश्रा को तेजी से निराकरण करने के निर्देश दिये। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के तहत सभी जनपद सीईओ को तेजी से शौचालय बनवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि हितग्राहियों को शौचालय बनवाने के लिये पहले से ही स्वीकृति आदेश बांट दिये जायें और उन्हें शौचालय बनवाने के लिय प्रेरित करें। उन्होंने मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा करते हुए सीसी जारी करने के कार्य में प्रगति लाने के लिये कार्यपानल यंत्री आरईएस श्री अरूण कुमार दुबे को निर्देश दिये। उन्होंने जिला मुख्यालय पर जिला विकलांग एवं पुनर्वास केन्द्र की स्थापना करने के लिये उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग को आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने कपिलधारा कूपों की समीक्षा करते हुए और अधिक संख्या बढ़ाये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास मिशन के तहत लक्ष्य पूरा करने पर जोर दिया।
बैठक के अंत में उन्होंने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत कुछ हितग्राहियों को ऋण स्वीकृति के प्रमाण पत्र भी वितरित किये। बैठक में कलेक्टर डॉ. मसूद अख्तर, संयुक्त आयुक्त विकास श्री राजेश राय, वन संरक्षक श्री व्हीके नीमा, सीईओ जिला पंचायत डॉ. सतेन्द्र सिंह, अपर कलेक्टर श्री एससी गंगवानी, क्षेत्रीय प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक छतरपुर श्री उदय भागवत सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे

Check Also

हितग्राही मूलक योजनाओं के प्रकरण लंबित न रहें

प्रति सप्ताह की भांति इस सप्ताह भी आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में टीएल बैठक आयोजित की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *